विश्व में शांति की कामना के लिए प्रतिदिन की जा रही है श्रीजी की पूजा अर्चना

Jainism

निवाई - कोरोना वायरस वैश्विक महामारी लोकडाउन के चलते आर्यिका श्रुतमति व सुबोधमति माताजी के सानिध्य में जैन धर्म के प्रथमाचार्य आचार्य शांतिसागर महाराज के परम्परागत पट्टाचार्य आचार्य धर्मसागर महाराज के 34 वें समाधि दिवस के उपलक्ष्य पर सन्त निवास सहित घर घर में पूजा अर्चना की गई। जैन समाज के प्रवक्ता विमल जौंला ने बताया कि विश्व में शांति की कामना के लिए भावपूर्वक जिनेन्द्र देव की शांतिधारा कर मण्डल विधान की पूजा अर्चना की। इस दौरान गुरुवार को समाजसेवी महेन्द्र चंवरिया सुनील जैन हर्ष जैन दिनेश चंवरिया त्रिलोक रजवास राजेन्द्र जैन  विमल पाटनी एवं आशीष चंवरिया ने सरकार की पालना करते हुए सोशल डिस्टेशन रखकर जैन धर्म के वर्तमान शासन नायक भगवान महावीर की पूजा एवं आचार्य शांतिसागर एवं आचार्य धर्म सागर महाराज की अपने अपने घर घर पर अष्ट द्रव्य से पूजा अर्चना कर पुण्यार्जन किया। इसी प्रकार लोकडाउन के चलते घर घर आचार्य धर्म सागर महाराज का 34 वाँ समाधि दिवस मनाया।


Comment






Total No. of Comments: