दो दिगम्बर जैन सन्त संघो का हुआ मिलन

Jainism

जयपुर दुर्गापुरा स्थित श्री चन्द्रप्रभ दिगम्बर जैन मंदिर पर मुनि 108 श्री विभंजन सागर जी महाराज एवं गणिनी आर्यिका 105 श्री भरतेश्वरमति माताजी ससंघ का भव्य मिलन हुआ ।

दिनांक 2/7/19 को प्रातः काल की मधुर बेला में दो जैन संतो का हुवा भव्य मिलन, प्रातः 5.15 पर भट्टारक जी की नशिया से विहार कर पूज्य मुनि 108 श्री विभंजन सागर जी महामुनिराज का मंगल प्रवेश 1008 श्री चन्द्रप्रभु दिगम्बर जैन मन्दिर दुर्गापुरा में हुवा,जहाँ पहले से विराजमान गणिनी आर्यिका 105 भरतेश्वरमति माताजी ससंघ एवं समाज के सैकड़ो महानुभाओं ने पूज्य मुनि श्री की भव्य अगवानी करी। दुर्गापुरा जैन समाज सदस्यों सहित
ट्रस्ट कार्यकारिणी के समस्त पदाधिकारी एवं महिला मण्डल द्वारा पूज्य मुनि श्री की मंगल आरती,पाद प्रक्षालन कर जिन मंदिर में प्रवेश करवाया गया।
प्रातः काल मंदिर में आगमन के पश्च्यात पूज्य मुनि श्री एवं आर्यिका माँ के सानिध्य में श्री जी की शांति धारा की गई तत्पश्चायत 8 बजे पूज्य गुरु माँ एवं पूज्य मुनि श्री के मंगल प्रवचन हुऐ जिसमें समाज के सेकड़ो महानुभाओं ने धर्म लाभ प्राप्त किया।
प्रवचन के शुरुवात में भगवान 1008 श्री चन्द्रप्रभु के समक्ष श्री बुद्धि प्रकाश जी भास्कर,श्री चंदन मल अजमेरा,राकेश काला, इन्द्रमणि जी,प्रकाश जी बाकलीवाल,लक्ष्मीनारायण काशलीवाल,प्रकाश चांदवाड,सुनील संगहि,नरेश बाकलीवाल,राजेन्द्र काला,मनोज सोगानी ने दीप प्रज्वलन किया,तत्पश्यात धर्म सभा हुई।
पूज्य मुनि श्री एवं गणिनी आर्यिका माँ का अल्प प्रवास दुर्गापुरा दिगम्बर जैन मंदिर में चल रहा है।
 ज्ञात हो गणिनी आर्यिका भरतेश्वरमति माताजी का चातुर्मास 2019 प्रताप नगर श्योपुर स्थित श्री चन्द्रप्रभ दिगम्बर जैन मंदिर में होना निश्चित हुआ है इस हेतु माताजी का भव्य मंगल प्रवेश दिनाँक 7 जुलाई 2019 रविवार को विशाल शोभायात्रा के साथ होगा।


Comment






Total No. of Comments: